Black Cumin Seeds (Kali Jeeri)

  • Sale
  • Rs. 195.00
  • Regular price Rs. 300.00


Black Cumin Seeds (काली जीरी)

  1. काली जीरी एक ओषधि है जो आकार मेओ चोटी होती है। यह स्वाद में थोड़ी तीखी होती है और इसकी तासीर गरम होती है। यह जीरे जैसी दिखती है। लेकिन इसका रंग कला होता है और आम जीरे से थोड़ी मोटी होती है। इसे आम भाषा में काली जीरि कहते है। काली कीरि स्वास्थ्य गुनो से भरपूर होती है। यह पेट की समस्याओं से लेकर शुगर और चोलेस्ट्रोल को नियंत्रित करने में मदद करती है।
  2. काली जीरी में थाईमेंकवाइनो (thymoquinone) नामक तत्व पाया जाता है जो कि कैन्सर को विकसित करने वाले सेल्ज़ को रोकने में मददगार होता है। काली जीरी का इस्तेमाल छोक लगाने में भी कर सकते है।
  3. काली जीरी के नियमित इस्तेमाल करने से ब्लड शुगर को भी नियंत्रित किया जा सकता है।
  4. काली जीरी में एंटी-एठन गुण मोजूद होता है जिस कारण मिर्गी दोरे को कम करने में मददगार होता है।
  5. काली जीरी श्वास सम्बंधी रोगों के उपचार जैसे अस्थमा, ब्रोकाइटिस और सर्दी के लाक्षणो को दूर करने वाला सबसे प्रभावी उपचार है।
  6. काली जीरी हमारे शरीर में अतिरिक्त चोलेस्ट्रोल को जमने नहि देता जिस कारण हमारा वज़न नहि बढ़ता।
  7. काली जीरी हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक शक्ति (immunity) को बढ़ाने में मद्द करता है और हमारे शरीर को ऊर्जा प्रदान करता है। यह हमारे शरीर के हड्डियों में मज्जा (bone-marrow) को बनाता है जो कि हमारे शरीर को मज़बूत करता है।
  8. काली जीरी का उपयोग कर्कव हम पेट सम्बंधित बीमारियों का भी इलाज लर सकते है। काली जीरी में रोगाणुरोधी (antimicrobial) नामक तत्व मोजूद होता है जो हमारे पेट की समस्या को दूर करता है। यह खाने को जल्द पचाने में भी मद्द करता है जिस कारण कमर के आस-पास extra चरबी नहि जमती।
  9. काली जीरी को सेंधा नमक के साथ चबाने से मुँह के चाले और मुँह से आने वाली बदबू को दूर किया जा सकता है।
  10. गर्भवती महिलाओ को काली जीरी 25g से अधिक नहि खानी चाहिए।
  11. काली जीरि, मेथी, अजवाइन का चूरन गठिया आँखो की रोशनी, क़ब्ज़, कफ, हृदय, थकान आदि बिमाफ़रियो में लाभदायक होता है। यह तीनो चीजे भूनकर, पीसकर तब चूरन तैयार करते है। इसके लिए मेथी 250g, अजवाइन 100g, काली जीरी 50g की आवश्यकता होती है।
Credits: www.melbourneherbs.com

Image result for buy on amazon logo 200g